https://bulletprofitsmartlink.com/smart-link/133310/4

क्या होती है क्रैश डाइट जिसकी वजह से चली गई श्रीदेवी की जान, खुद बोनी कपूर ने किया खुलासा

Share to Support us


Crash Diet Risk: आज के दौर में तेजी से बढ़ता वजन (weight) लोगों के लिए परेशानी का सबब बन गया है. स्लिम ट्रिम दिखने की चाहत में लोग तरह तरह की डाइट लेते हैं. कहा जाता है कि कम समय में तेजी से वजन कम करने के लिए पिछले कुछ सालों में क्रैश डाइट (crash diet)का काफी क्रेज  रहा है. बॉलीवुड की महान अदाकारा दिवंगत श्रीदेवी के लिए यही क्रैश डाइट जानलेवा बन गई. जी हां श्रीदेवी की मौत के 5 सालों बाद उनके पति बोनी कपूर ने खुलासा किया है कि श्रीदेवी(sridevi) मौत से पहले क्रैश डाइट से वजन कंट्रोल कर रही थी और क्रैश डाइट की कॉम्प्लिकेशन ही उनकी जान के लिए खतरनाक साबित हुई. बोनी कपूर ने कहा कि शादी के बाद वजन घटाने के लिए श्रीदेवी क्रैश डाइट जैसी मुश्किल डाइट लेती थीं और उसकी वजह से वो कई बार बेहोश भी हो गई थी. चलिए जानते बैं कि आखिर क्रैश डाइट क्या होती है और इसके क्या नुकसान हो सकते हैं. 

 

क्या है क्रैश डाइट 

हेल्थ एक्सपर्ट कहते हैं कि तेजी से वजन घटाने के लिए क्रैश डाइट को आजकल बहुत फॉलो किया जाता है. ये डाइटिंग की ही एक प्रोसेस है जिसमें डाइटिंग करने वाला बेहद कम कैलोरी खाकर वजन कम करता है. जैसे एक स्वस्थ इंसान के लिए एक दिन में करीब 2500 कैलोरी की जरूरत होती है. जबकि क्रैश डाइट करने वाला व्यक्ति एक दिन में केवल 700 से 900 कैलोरी का ही इनटेक करता है. कहा जाता है क्रैश डाइट करके एक हफ्ते में तीन किलो तक वजन कम किया जा सकता है. क्रेश डाइट में कुछ लोग नमक बिलकुल नहीं खाते हैं, इसके अलावा दिन के कैलोरी इनटेक में कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन भी बहुत ही कम मात्रा में लेते हैं, इसी के चलते हफ्ते भर में बहुत ज्यादा वेट लूज होता है. 

 

क्रैश डाइट के खतरे  

क्रेश डाइट अक्सर लाइमलाइट और सेलेब वर्ल्ड में रहने वाले वो लोग फॉलो करते हैं जिनको प्रेजेंटेबल दिखना होता है. क्रैश डाइट में चूंकि बहुत ही कम पोषण शरीर को मिलता है इसलिए इसके शरीर को कई सारे खतरे होते हैं. अगर पहले से कोई बीमारी है तो क्रैश डाइट जानलेवा भी हो सकती है. बीपी की समस्या वाले लोगों के लिए भी क्रैश डाइट काफी खतरनाक होती है.अगर कोई लंबे समय तक क्रैश डाइट कर रहा है तो उसे अवसाद, एंजाइटी, मसल्स लॉस, कमजोर हड्डियों, हेयर लॉस, डायबिटीज के जोखिम, नींद की परेशानी, ईटिंग डिसऑर्डर, कमजोरी, डिहाइड्रेशन और एनीमिया की दिक्कतें हो सकती हैं.

 

Disclaimer: इस आर्टिकल में बताई विधि, तरीक़ों और सुझाव पर अमल करने से पहले डॉक्टर या संबंधित एक्सपर्ट की सलाह जरूर लें.

 

यह भी पढ़ें 

Check out below Health Tools-
Calculate Your Body Mass Index ( BMI )

Calculate The Age Through Age Calculator



Source link


Share to Support us

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Download Our Android Application for More Updates

X